भारतीय शिक्षा
मनुष्य में जो संपूर्णता सुप्त रूप से विद्यमान है उसे प्रत्यक्ष करना ही शिक्षा का कार्य है। स्वामी विवेकानन्द                      There are no misfit Children, there are misfit schools, misfit test and studies and misfit examination. F.Burk                     शिक्षा का वास्तविक उद्देश्य आंतरिक शक्तियों को विकसित एवं अनुशासित करने का है। डॉ. राधा कृष्णन                      ज्ञान प्राप्ति का एक ही मार्ग है जिसका नाम है, एकाग्रता और शिक्षा का सार है मन को एकाग्र करना। श्री माँ

पत्रिका

pdf Vishwabharat

41th Issue (July 2013 – Dec 2013): Focus on Anuvadaksh Machine Translation System. (pdf file) 2.8 MB
Download E-pub Version (zip file) 5.6 MB
Note: To view epub files, any epub viewer software like Calibre, Icecream eBook Reader etc is required.